भिवंडी में सीएए व एनआरसी के विरोध डेढ़ लाख से अधिक लोगों ने सड़क पर उतर दर्ज कराया विरोध, प्रांत अधिकारी को सौंपा गया ज्ञापन

देश, राज्य, समाज

शारिफ अंसारी, भिवंडी/मुंबई (महाराष्ट्र), NIT:

अल्पसंख्यक बाहुल्य भिवंडी शहर में नागरिकता संशोधन क़ानून का करीब डेढ़ लाख से अधिक लोगों द्वारा एकजुट होकर मोर्चा निकालकर विरोध दर्ज कराया गया। शहर स्थित तमाम मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों से एकजुटता दिखाते हुए प्रदर्शनकारी करीब 3 बजे जकात नाका स्थित आनंद दिघे चौक, पुलिस कंट्रोल रूम और प्रांत कार्यालय के सामने पहुंचकर जमा हुए और नागरिकता संशोधन क़ानून वापस लो, एनआरसी रद्द करो, केंद्र सरकार मुर्दाबाद, मोदी-शाह मुर्दाबाद के जोरदार नारे लगाते हुए प्रांत कार्यालय पहुंचे और प्रतिनिधिमंडल में शामिल पूर्व विधायक रशीद ताहिर मोमिन, सपा पूर्व जिलाध्यक्ष सलाम नोमानी, मुस्लिम धर्मगुरु मौलाना अहमद रजा अशरफी सहित तमाम नेताओं की मौजूदगी में प्रांत अधिकारी डाॅ. मोहन नलदकर को ज्ञापन सौंप कर क़ानून वापस लेने की मांग की गयी।

भिवंडी पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे के कुशल मार्गदर्शन में विशाल मोर्चा को नियंत्रित किये जाने हेतु सुरक्षा के मद्देनजर चप्पे-चप्पे पर पुलिस की तैनाती सहित ड्रोन से तस्वीरें खींची जा रही थीं। विरोध मोर्चा के कारण करीब 3 घंटों तक शहर का यातयात पूर्णतः बाधित रहा जिसे सुचारू किये जाने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी।

ज्ञात हो कि, केंद्र सरकार द्वारा पारित नागरिकता संशोधन क़ानून व एनआरसी क़ानून का विरोध अल्पसंख्यक नगरी भिवंडी भी पहुंच गया है। भिवंडी शहर स्थित मुस्लिम बहुल क्षेत्रों निजामपुर, ईदगाह रोड, आजमी नगर, धोबी तलाब, रोशन बाग़, समद नगर, धामनकर नाका, शांतीनगर, गैबीनगर, मिल्लत नगर, आम पाडा, गुलजार नगर, पीराणी पाडा, गायत्री नगर, काप तालाब आदि इलाकों से हाथों में झंडा, बैनर लेकर युवा, बुजुर्ग एकजुट होकर केंद्र सरकार मुर्दाबाद व नागरिकता संशोधन क़ानून, एनआरसी वापस करो’’ के गगनभेदी नारे लगाते हुए जकात नाका स्थित स्व.आनंद दिघे चौक पहुंचकर करीब देढ़ लाख से अधिक लोगों द्वारा केंद्र सरकार के विरोध में जमकर नारेबाजी की गई तदुपरांत प्रांत अधिकारी नलदकर को ज्ञापन सौंपा।

ठाणे पुलिस आयुक्त विवेक फ़णसलकर के मार्गदर्शन में ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर सुरेश मेकला, अप्पर पुलिस आयुक्त अनिल कुंभारे, क्राइम विभाग के अपर पुलिस आयुक्त प्रवीण पवार, पुलिस उपायुक्त राजकुमार शिंदे ने बेहद सूझबूझ, शांतीपूर्ण तरीके से लोगों को समझाबुझाकर विशाल मोर्चा खत्म किये जाने में अहम रोल निभाया। आश्चर्यजनक तथ्य यह है कि, लाखों प्रदर्शनकारी जहां केंद्र सरकार मुर्दाबाद का नारा लगा रहे थे वहीं भिवंडी पुलिस की शांतिप्रिय, बेहतर कार्यप्रणाली हेतु पुलिस जिंदाबाद के नारे भी आकाश में गुंजायमान हो रहे थे।

एमआईएम का कैंडल मार्च व ऑटो रिक्शा बंद 23 दिसंबर को

नागरिकता संशोधन कानून व एनआरसी के विरोध में भिवंडी में एमआईएम जिलाध्यक्ष शेख खालिद गुड्डू के नेतृत्व में 23 दिसंबर शाम साढ़े 5 बजे से कोटर गेट मस्जिद से स्व.आनंद दिघे चौक तक एमआईएम कार्यकर्ताओं द्वारा विशाल कैंडल मार्च निकाला जाएगा। वहीं भिवंडी तालुका ऑटो रिक्शा चालक मालक महासंघ शहराध्यक्ष शेख खालिद इरफ़ान द्वारा 23 दिसम्बर सुबह 7 से शाम 7 बजे तक पूर्णतः रिक्शा बंद होने की घोषणा की गयी है।

Leave a Reply