मुस्लिम धर्मगुरु (मौलाना) को तालिबानी और पाकिस्तानी कह कर दुर्व्यवहार करने का पुलिस पर लगा आरोप, दोषी पुलिस कर्मी के माफी मांगने पर हुआ मामला रफा-दफा

अपराध, देश, राज्य, समाज

हाशिम अंसारी, ब्यूरो चीफ, सीतापुर (यूपी), NIT:

लहरपुर नगर के जमीयत उलेमा-ए-हिंद के जनरल सेक्रेटरी मौलाना हिलाल अहमद कासमी कल रात रखौना से अपनी गाड़ी से वापस लहरपुर आ रहे थे कि तभी पुलिस ने उनकी गाड़ी को जांच के लिए रोका, ड्राइवर के गाड़ी भगा देने से पुलिस ने मीरा टोला मस्जिद के निकट मौलाना को रोक लिया और कुछ कहासुनी और परिचय देने पर पुलिस ने गाड़ी को छोड़ दिया। मौलाना हिलाल अहमद का आरोप है कि पुलिस ने उनके साथ दुर्व्यवहार करते हुए मारपीट की थी और तालिबानी और पाकिस्तानी कहा था। जिसकी जानकारी मिलने पर आज सुबह बड़ी संख्या में लोग जमा होकर कोतवाली की तरफ कूच किया और जमकर पुलिस के विरोध में मुर्दाबाद के नारे लगाए। कोतवाली प्रभारी अनिल पांडे ने भीड़ को समझाने का प्रयास किया इसके उपरांत एक शिष्टमंडल से वार्तालाप कर दोषी लोगों के विरुद्ध कार्रवाई का आश्वासन दिया। इस बीच पहुंचे क्षेत्राधिकारी अखंड प्रताप सिंह ने आरोपी निरीक्षक, गिरीश चंद्र अग्निहोत्री से घटना पर दुख प्रकट करवा कर मामले का पटाक्षेप कर दिया। मौलाना मुफ्ती हिलाल अहमद ने इस मौके पर कहा कि माजरत से बढ़कर कुछ नहीं है इसलिए हम इस मामले में उन्हें माफ करते हैं और सभी मामले को दिल से खत्म करते हैं।

Leave a Reply