तीस हजारी कोर्ट की घटना को लेकर वकील रहे हड़ताल पर, सौंपा गया ज्ञापन

अपराध, देश, राज्य

वी.के.त्रिवेदी, ब्यूरो चीफ, लखीमपुर-खीरी (यूपी), NIT:

सोमवार को निघासन तहसील के वकील हड़ताल पर रहे इस दौरान तीस हजारी कोर्ट की घटना को लेकर वकीलों ने राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन नायब तहसीलदार को सौंपा।
प्राप्त जानकारी के अनुसार सोमवार को निघासन तहसील के अधिवक्ता भवन में मीटिंग की गई जिसमें दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में पुलिस द्वारा वकीलों पर गोली चला दी गई थी इस दौरान वकीलों व पुलिस विवाद में तीन वकीलों को गोली लगी थी और वकील घायल हुए हैं। ज्ञापन में कानपुर में वकीलों के खिलाफ दर्ज किये गए फर्जी मुकदमे को वापस लेने की भी मांग की गई है। पूरे घटनाक्रम की निष्पक्ष जांच हाइकोर्ट के जज से कराने की मांग के साथ ही घायल वकीलों को बीस लाख रुपये देने के साथ परिवार को सुरक्षा देने की मांग की गई है साथ ही वकीलों की सुरक्षा के लिये अधिवक्ता संरक्षण अधिनियम लागू किया जाने की मांग भी की गयी है। उत्तर प्रदेश में वकीलों पर हो रहे हमलों व हत्याओं पर रोक लगाने के लिये प्रदेश सरकार को उचित कदम उठाने की मांग भी ज्ञापन के माध्यम से की गई है। ज्ञापन नायब तहसीलदार अनिल सोनकर को सौंपा गया है। आज वकील पूरी तरह से हड़ताल पर रहे। इस दौरान उपाध्यक्ष अम्बरीष श्रीवास्तव, मंत्री रवि गुप्ता, जगमोहन लाल यादव, रमेश, राजू गिरि, सर्वेश गुप्ता, उमाकांत जायसवाल, चंदप्रकाश, महेश पाण्डे, शकील, उपेंद्र, हरिनंदन लाल यादव, राकेश वैश्य व राहुल गुप्ता आदि वकील मौजूद रहे।

Leave a Reply