दस वर्षों तक एनसीपी का अध्यक्ष रहने के बावजूद कांग्रेस के कारण नहीं मिला टिकट: खालिद गुडडू

देश, राजनीति, राज्य

शारिफ अंसारी, भिवंडी/मुंबई (महाराष्ट्र), NIT:

मजलिस इत्तेहादुल मुसल्लमीन से भिवंडी पश्चिम विधानसभा क्षेत्र से उम्मीदवार व राकंपा के पूर्व अध्यक्ष मोहम्मद खालिद गुडडू ने आज पत्रकार परिषद में पत्रकारों से संवाद करते हुए कहा कि 10 सालों से मैं राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी का अध्यक्ष रहा और हर चुनाव में टिकट मांगा मगर कांग्रेस पार्टी की वजह से मुझे कभी टिकट नहीं दिया गया और अभी चुनाव में कांग्रेस में भाजपा के अध्यक्ष संतोष शेट्टी को कांग्रेस पार्टी में लाकर उम्मीदवारी के लिए टिकट दिया गया है इसलिए मैंने राकंपा को छोड़कर अल्पसंख्यकों की समस्याओं और मुद्दों पर जान निछावर करने वाली मजलिस इत्तेहादुल मुसल्लमीन के भिवंडी अध्यक्ष शादाब उस्मानी के नेतृत्व में पार्टी में प्रवेश कर लिया। भिवंडी जैसे अल्पसंख्यकों के शहर में अगर अल्पसंख्यक समाज के लोगों को टिकट नहीं दिया जाएगा तो फिर और कहाँ से दिया जाएगा?

खालिद गुड्डू ने कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि जब 47 नगरसेवकों के साथ मनपा में बहुमत में थे तो उपमहापौर और सभापति शिवसेना को क्यों दिया गया और अगर सत्ता में होने के बावजूद काम की उम्मीद पर दिया गया तो बताइए शहर में कौनसा विकास का काम हुआ है। पूरे शहर को 52 सड़कों के निर्माण का वादा करके धोखा दिया जा रहा है। 5 सालों से कांग्रेस भिवंडी शहर में और बीजेपी राज्य और केंद्र में सत्ता पर है बताइए जरा क्या डेवलपमेंट हुआ। भिवंडी की पावरलूम उद्योग पूरी तरह से बर्बाद करने वाली टोरेंट कंपनी के खिलाफ बीजेपी या कांग्रेस ने कभी कोई आंदोलन या मोर्चा क्यों नहीं निकाला। आज तक मजलिस इत्तेहादुल मुसल्लमीन और खालिद गुड्डू ही शहर और नागरिकों के समस्याओं पर मोर्चा धरना और आंदोलन करते आए हैं। जीत के बाद हमारा पहला काम टोरेंट का खात्मा होगा। खालिद गुड्डू ने कहा के कुछ टेक्निकल कारणों की वजह से मजलिस इत्तेहादुल मुसल्लमीन का चुनाव चिन्ह नहीं मिल सका। मगर मजलिस के सभी छोटे-बड़े नेता हमारे साथ हैं और बैरिस्टर असददुद्दीन ओवैसी ने भी भिवंडी आने और खालिद गुड्डू को सपोर्ट करने का आवाहन किया है । मजलिस के शहर अध्यक्ष शादाब उस्मानी ने कहा कि भिवंडी शहर मनपा में कांग्रेस सत्ता में हैं । 12 सड़कों का निर्माण कार्य शुरू है। जिनमें से एक सड़क भी मुस्लिम क्षेत्रों में नहींं है तो सबका साथ सबका विकास का नारा कहां गया। शादाब उस्मानी ने कहा कि हमारी पहली प्राथमिकता मैं शिक्षा, उपचार , पानी , साफ सफाई व स्वास्थ्य शामिल होगा। उन्होंने कहा कि भिवंडी शहर की बर्बादी में कांग्रेस पार्टी का ही सबसे बड़ा हाथ है और बीजेपी के मौजूदा विधायक 5 सालों में सिर्फ पांच काम बता दें। वह सिर्फ एक सड़क के निर्माण का हवाला देकर चुनाव लड़ रहे हैं वह भी ग्रामीण की सड़क है।

Leave a Reply