हवा में उड़ गए सीएम और डीएम के आदेश, धड़ल्ले से जारी है सरकारी आवासों पर अवैध प्रेक्टिस, मरीजों का जमावड़ा लगाते हैं सरकारी चिकित्सक

अपराध, देश, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

फराज़ अंसारी, ब्यूरो चीफ, बहराइच (यूपी), NIT:

उत्तर प्रदेश के जनपद बहराइच के मेडिकल कालेज/जिला अस्पताल में मरीजों का शोषण चरम सीमा पार कर गया है। यहां के सरकारी चिकित्सक मरीजों को बेहतर इलाज का झांसा देकर मरीजों को अपने आवास पर बुलाते हैं फिर दवा व फीस के नाम पर जमकर धन उगाही का खेल चलता है।

सूत्र बताते हैं कि भृस्टाचार के इस खेल में चिकित्सा महाविद्यालय व जिला अस्पताल के अधिकारियों का खुला संरक्षण प्राप्त है। भृस्टाचार के इस गन्दे खेल में चिकित्सकों के गुर्गे मरीजों को अस्पताल से सरकारी आवास तक पहुंचाने में कैरियर बनकर अहम रोल अदा करते हैं। हैरान परेशान मरीज की मजबूरियां चिकित्सक की चौखट पर आकर दम तोड़ देती है ऊपर से चिकित्सकों की नई धमकी….अगर कहीं किसी से कहा तो सरकारी दवा लिख देंगे और तुम्हरा मरीज कभी ठीक नहीं होगा। मरीजों को जुबान बन्द रखने पर मजबूर कर देती है। जिला अस्पताल के सरकारी आवास में चिकित्सकों की अवैध प्रेक्टिस के खेल में बाल रोग विशेषज्ञ एहतिशाम अली व डाॅक्टर शम्भू दयाल तथा एक फिजिशियन डॉ प्रभाकर मिश्रा का नाम चर्चा में उछाल पर है फिर भी जिला प्रशासन द्वारा कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है। ऐसा नहीं की ये खेल नया खेला जा रहा है, कई वर्षों से जमे चिकित्सक बेखौफ होकर इलाज के नाम पर मरीजों का शोषण वर्षो से करते आ रहे हैं फिर भी सरकारी सिस्टम इन पर कार्यवाही करने से कतरा रहा है। आये दिन हो रही धनउगाही व मरीजों को मौत आमजन मानस में चर्चा का विषय बनी हुई है।

Leave a Reply