पुलिस चौकी से चंद कदमों की दूरी पर हुई लाखों की चोरी की वारदात

अपराध, देश, राज्य

योगेश तिवारी, ब्यूरो चीफ, बाराबंकी (यूपी), NIT:

उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने जिले से अपराधिक वारदातों का नामों निशान मिटाने के लिए सभी थानाध्यक्षों और पुलिसकर्मियों को अपने-अपने क्षेत्र में गश्त करने के लिए सख्त निर्देश दिए हैं तो वहीं दूसरी ओर जिले की पुलिस इन निर्देशों को सिरे से नकारती हुई दिखाई दे रही है। इसी के चलते क्षेत्र में चौकी से चंद कदमों की दूरी पर ही चोरों ने अपना हुनर दिखाते हुए कई जगहों पर लाखों रुपए की चोरी की वारदात को अंजाम दिया है। इन वारदात ने पुलिस व्यवस्था की पोल खोल दी है।

जाने कहां-कहां पर चोरों ने दिखाई हाथ की सफाई

दरअसल एक महीने के भीतर बाराबंकी के असंद्रा थाना क्षेत्र में सिद्धौर पुलिस चौकी के पास चोरी की ताबड तोड़ वारदाते हुई हैं जिससे लोगों में भय का माहौल बना हुआ है। बता दें कि सिद्धौर नव निर्मित पुलिस चौकी से कुछ ही दूरी पर रामकिशोर यादव का मकान है जहां चोरो ने हजारों रुपयों के सामान पर अपना हाथ साफ किया। पीड़ित की ओर से शिकायत दर्ज करवाई गई जिसके बावजूद पुलिस द्वारा कोई कार्यवाही न किये जाने से चोरों के हौसले इस कदर बुलंद हुए कि चोरों ने चौकी क्षेत्र के जमलापुर निवासी रिटायर्ड ग्राम विकास अधिकारी राजाराम के घर से लाखों रुपए का कीमती सामान चुरा लिया। यही नहीं क्षेत्र के कस्बा सिद्धौर आमीन के घर में भी चोर हजारों के माल पर हाथ साफ कर चलते बने। इसी कड़ी में नगर के मील चौराहे पर सिद्धौर पुलिस चौकी से चंद कदमों की दूरी पर कस्बा निवासी शेखर की ज्वेलर्स की दुकान में शातिर चोर सोमवार की रात नाकाब से मुंह बांधकर आए और दुकान के अंदर रखें लगभग साठ हजार के सोने-चांदी के जेवरात को ले गए। बीते दिनों हुई ताबड-तोड़ वारदातो का पुलिस पता भी नहीं लगा पाई कि बीती रात चोरो ने पुरचंदी गांव निवासी मोहम्मद के नहर के पास स्थित संजीव ट्रेंड्स के गोदाम पर खड़े दो ट्रैक्टर की बैटरियों को चुराकर ले गए।

चोरियों की वारदातों को अभी तक नहीं किया गया रजिस्टर्ड

जानकारी के मुताबिक असन्द्रा थाना क्षेत्र में चोरों ने करीब दर्जन भर से अधिक चोरियों को चोरों ने अंजाम दिया है इसके बावजूद असन्द्रा थाना अध्यक्ष ने अभी तक इन वारदातों से संबंधित धाराओं में मुकदमा दर्ज नही किया है। जिससे यह तो साफ होता कि थाना अध्यक्ष अपने थाना क्षेत्र में हुई चोरी की घटनाओं के ग्राफ को नीचा दिखाना चाहते हैं। वही अभी तक पीड़ितों के द्वारा दी गई तहरीर के मुताबिक मुकदमा दर्ज न होने से क्षेत्र में चोरी की वारदाते चर्चा का विषय बनी हुई हैं।

पूर्व में हुई चोरी की घटनाओं का अभी तक नहीं हुआ खुलासा

दरअसल असन्द्रा थाना क्षेत्र चोरों का गढ़ माना जाता है जहां आए दिन चोरी की घटनाएं घटित होती हैं। बता दें कि इस थाना क्षेत्र में पूर्व में भी चोरों ने दर्जनभर से अधिक चोरी की घटनाओं को अंजाम दिया है जिनका अभी तक कोई खुलासा नहीं हुआ है।

आसपास के थाना क्षेत्रों में भी वारदात को देते हैं अंजाम
सूत्रों की मानें तो इस थाना क्षेत्र में कई चोरों के गैंग सक्रिय हैं, जो आस-पास के गांव, आसपास के चौराहों और दुकानों में तो घटना को अंजाम देते ही हैं वहीं कई थाना क्षेत्रों में चोरी की वारदात को अंजाम दिया था।

रटा-रटाया जवाब देते हैं थानाध्यक्ष

चोरियों के संबंध में यदि थाना अध्यक्ष से बात की जाती है तो वह रटा रटाया जवाब देते हुए बताते हैं कि जल्द से जल्द इसका खुलासा किया जाएगा। वहीं जब क्षेत्रीय पत्रकारों के द्वारा विस्तार से जानकारी ली जाती है तो थाना अध्यक्ष के द्वारा फोन काट कर दोबारा रिसीव भी नहीं किया जाता है जिससे यह साफ जाहिर होता है कि थाना अध्यक्ष किसी भी प्रकार की जानकारी देना उचित नहीं समझते हैं।

पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर ने किया थाना अध्यक्षों को चिन्हित

पुलिस अधीक्षक आकाश तोमर के द्वारा उन थानाध्यक्षों को चिन्हित किया जा चुका है जिनके थाना क्षेत्रों में अब तक कई चोरी की घटनाए हो चुकी हैं और अपराध पर लगाम नहीं लग पा रहा है, उन थानाध्यक्षों को जल्द से जल्द प्रभाव से हटाने की मुहिम के लिए मास्टर प्लान रचा जा रहा हैं।

Leave a Reply