कांग्रेस की तीसरी पीढ़ी भी गरीबों का मजाक उड़ा रही है: गड़करी

देश, राजनीति, राज्य

पंकज शर्मा, ब्यूरो चीफ, धार (मप्र), NIT:

स्वतंत्र भारत में नेहरू जी भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बने उन्होंने विश्वास दिलाया कि वे गरीबी मिटायेंगे लेकिन गरीबी नहीं मिटी। इंदिरा जी आई उन्होंने कई सूत्रीय कार्यक्रम चलाए पर गरीबी नहीं हटी। राजीव गांधी आए फिर भी कुछ नहीं हुआ। सोनिया के नेतृत्व में मनमोहन सिंह की सरकार बनी गरीबी वहीं की वहीं रही। अब नेहरू जी का पोता राहुल गांधी आया है वह कह रहा है कि गरीबी को 72 हजार सालाना देंगे और गरीबी मिटायेंगे। कांग्रेस जनता को झूठे वादे कर वोटों की राजनीति कर रही है। यह बात केन्द्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी ने धार के मनावर में आयोजित विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए कही।

प्रदेश में किसानों का कर्जा तो दूर बेरोजगारों को भत्ता तक नहीं मिला
श्री गड़करी ने कहा कि कांग्रेस ने विधानसभा चुनाव में 2 लाख रूपए तक का कर्जमाफ करने का झूठा वादा किया। बेरोजगारों को 4 हजार रूपए महीना भत्ता भी देने की बात कही परंतु सत्ता में आते ही किसानों का कर्जा तो दूर बेरोजगारों को भत्ता तक नहीं मिल पाया है। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद से ही कांग्रेस गरीबों के लिए कुछ नहीं कर सकी। वहीं 5 साल में मोदी सरकार ने हर मोर्चे पर सफलता पायी है। 1984 में राजीव गांधी ने कहा था कि हम गंगा नदी को स्वच्छ एवं निर्मल बनाएंगे परंतु कुछ भी नहीं किया। इस बार इलाहाबाद कुम्भ में 20 करोड़ लोगों ने जब गंगा मे डुबकी लगाई तो उन्हें स्वच्छ, निर्मल एवं अविरल बहती गंगा नजर आई। हमने 26 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट गंगा पर लगाए हैं। सिर्फ 20 प्रतिषत ही कार्य पूर्ण हुआ है। उसमें ही गंगा का स्वरूप बदल गया है। हमने गंगा में जल मार्ग भी बनाया है।
रतलाम से सूरत तक 1 लाख करोड़ का एक्सप्रेस-वे होगा तैयार
उन्होंने कहा कि हम गुडगांव से लेकर रतलाम से सूरत तक एक लाख करोड़ का एक्सप्रेस-वे बना रहे है। जिससे हमारे आदिवासी बहुल गांव भी जुड़ेंगे। वहां रोजगार बढ़ेगा। साथ ही मुंबई की दूरी 125 किलोमीटर तथा दिल्ली की दूरी 150 किलोमीटर कम हो जाएगी। हमारी सरकार ने निर्णय लिया है कि इस देश का किसान गेहूं मक्का तक ही सीमित नहीं रहेगा बल्कि वह पेट्रोल एवं डीजल का भी पर्याय बनेगा। हमारे आदिवासी जंगलों में बसते हैं वहां पर रतनजोत, मोर, साल, करज, टोली जैसे अखाद्य तेल की फसलें होती है। उससे बायो डीजल, पेट्रोल बनता है। अब इस जेट्रोफा ऑइल से हवाई जहाज के लिए इंधन भी बनने लगा है। अब आदिवासी अपने खेतों में तथा जंगलों में इन फसलों की बुआई कर उसका तेल निकालेंगे और देष मे 30 हजार करोड़ के आयात की बचत करेंगे और वह पैसा उनके विकास में ही काम आयेगा। पेट्रोल में 10 प्रतिषत इथेलान डालना शुरू किया है क्योंकि गन्ना और चावल की करी से इथेलान बनता है। यहां तक कि अब पानी की प्लास्टिक बॉटल भी इथेलान से बनाई जाएगी क्योंकि पेट्रोलियम पदार्थ से बनी पानी की बोतलें नष्ट नहीं होती हैं और इथेलान से बनी बॉटल 72 घंटे में ही मिट्टी में मिल जाती हैं।
पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह ने कहा कि बंगाल में ममता बेनर्जी द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह के रोड़ शो पर हमला करवाकर प्रजातंत्र का गला घोटनें का प्रयास किया है। कांग्रेस की सरकार ने चार महीने में ही मध्यप्रदेश को बर्बादी की कगार पर लाकर खड़ा कर दिया है। इन्होंने प्रदेश के विकास कार्यों को छोडकर तबादला उद्योग में मस्त है। भारतीय जनता पार्टी की जनोन्मुखी योजनाओं को बंद कर करके यह जता दिया है कि कांग्रेस का विकास से कोई नाता नहीं है। गरीबों को योजनाओं का लाभ नहीं मिल पा रहा है। बुजुर्गों की तीर्थयात्रा बंद हो गई है। कांग्रेस ने संबल योजना बंद कर दी। बस मध्यप्रदेश में सिर्फ पैसा कमाने का धंधा चल रहा है।

कार्यक्रम में भाजपा के लोकसभा प्रत्याशी छतरसिंह, अजा मोर्चे के राष्ट्रीय अध्यक्ष फग्गन सिंह कुलस्ते, लोकसभा चुनाव प्रभारी श्री स्वतंत्र देव सिंह, बाबू सिंह रघुवंशी, विधायक निना वर्मा, उषा ठाकुर, रंजना बघेल, जिला अध्यक्ष डॉ. राज बर्फा,सांसद सावित्री ठाकुर, संभागीय मीडिया प्रभारी भाजपा ज्ञानेंद्र त्रिपाठी, वरिष्ठ नेता अशोक जैन उपस्थित थे।

Leave a Reply