भिंड जिला अस्पताल में प्रसव के लिए आई महिला की मौत, परिजनों ने लगाया इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप

देश, राज्य, समाज, स्वास्थ्य

अविनाश द्विवेदी/विजय भदौरिया, भिंड (मप्र), NIT:

प्रदेश में एक्सीलेंस अस्पताल का दर्जा प्राप्त भिण्ड के जिला चिकित्सालय में रविवार देर शाम प्रसव के लिए आई एक महिला की मौत हो गई। प्रसूता की मौत पर परिजनों ने अस्पताल प्रबंधन पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा कर दिया।

रविवार को मेहगांव क्षेत्र के मानिकपुरा निवासी शिवकुमार ने अपनी पत्नी प्रीति को प्रसव पीड़ा होने पर डिलीवरी के लिए मेहगांव सामुदायिक केंद्र में भर्ती कराया जहां महिला की डिलिवरी के दौरान उसकी हालत बिगड़ गई जिस पर डॉक्टर ने महिला को भिण्ड जिला अस्पताल रेफर कर दिया। यहां पहुंचने पर अस्पताल प्रबंधन ने महिला को गंभीर हालत में एडमिट कर लिया, जिसके कुछ देर बाद प्रसूता की हालत और गंभीर हो गई और कुछ समय बाद उसकी मौत हो गई। प्रसूता की मौत होने पर परिजनों ने हंगामा शुरू करते हुए अस्पताल प्रबंधन पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। हालांकि डॉक्टर का कहना है कि महिला को प्रसव के दौरान ही बच्चा मृत पैदा हुआ, लेकिन उसका प्लेसेंटा नहीं निकल सका। रिटेंड प्लेसेंटा के चलते महिला को गंभीर हालत में जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया। यहां पर डॉक्टरों ने महिला को बचाने की काफी कोशिश की लेकिन उसने दम तोड़ दिया। परिजनों का आरोप है कि जिस समय महिला को लाया गया वह बोल रही थी लेकिन डॉक्टरों की अनदेखी और लापरवाही के चलते उसकी मौत हुई है। वहीं डॉक्टरों ने किसी भी प्रकार की अनदेखी या लापरवाही से इंकार किया है।

गौरतलब है कि प्रदेश में नम्बर 1 अस्पताल का दर्जा प्राप्त होने के बाद भी भिण्ड हॉस्पिटल में आए दिन प्रसव को आई महिलाओं की मौत के मामले सामने आ रहे हैं जिसमें मृतकों के परिजन सही इलाज न होने की शिकायत करते हैं।

Leave a Reply